Hindi Shayari - Poetry In Hindi

Best Hindi Sher O Shayari And Ghazal Collection




कोई ऐतराज़ नहीं है बिखरने से मुझको

कोई ऐतराज़ नहीं है बिखरने से मुझको,
तुम अगर अपनी बाहों में संभालने की ज़हमत करो…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RJShayari © 2015