Hindi Shayari - Poetry In Hindi

Best Hindi Sher O Shayari And Ghazal Collection




2 Lines Inspirational Shayari – मेरा ज़मीर बहुत है मुझे सज़ा के लिए

मेरा ज़मीर बहुत है मुझे सज़ा के लिए
तू दोस्त है तो नसीहत न कर ख़ुदा के लिए


2 Comments

Add a Comment
  1. अब तो हमें अपने नाम से तकलीफ होने लगी है
    नाम बताते है ज़मीर लेकिन कहती है वो हमें समीर
    सोचते राशन कार्ड से बादलवाले अपना नाम
    और रखदे कुछ ऐसा नाम
    जो उनके नाम से मिलजाए मेरा नाम….
    Zamir. S

  2. Ishq. Ki Urdu zuban se hum mehroom bhete hai
    Koi hum se puche
    Hum konsa mu मु me paan liye bhete hai…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RJShayari © 2015