Hindi Shayari - Poetry In Hindi

Best Hindi Sher O Shayari And Ghazal Collection




2 Lines Sad Shayari – कसूर उन कश्तियों का नहीं जो मझधार में उलझ गयी

कसूर उन कश्तियों का नहीं जो मझधार में उलझ गयी …
ये तो कुछ झोके चले थे फिजाओं के .. साहिलों से ग़ालिब …


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RJShayari © 2015