Hindi Shayari - Poetry In Hindi

Best Hindi Sher O Shayari And Ghazal Collection




Mohabbat Sher O Shayari – नही बसती किसी और की सुरत अब

नही बसती किसी और की सुरत अब इन आँखो मे……

काश की हमने उसे इतने गौर से ना देखा होता…….


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RJShayari © 2015