Hindi Shayari - Poetry In Hindi

Best Hindi Sher O Shayari And Ghazal Collection




Tag: 4 line sayari

Zakhm Shayari 2 Line Mein – फिर कोई जख्म मिलेगा तैयार रह



फिर कोई जख्म मिलेगा तैयार रह ऐ दिल…
कुछ लोग फिर पेश आ रहे हैँ बहुत प्यार से….

Zakhm Shayari 2 Line Mein – ज़ख़्मों के बावजूद मेरा हौसला तो



ज़ख़्मों के बावजूद मेरा हौसला तो देख,,
तू हँसी तो मैं भी तेरे साथ हँस दिया..!!



Zakhm Shayari 4 Line Mein – “दिल में है



“दिल में है जो दर्द वो किसे बताएं,
हँसते हुए ज़ख्म किसे दिखाएँ.
कहती है ये दुनिया हमे खुशनसीब,
मगर नसीब की दास्तान किसे सुनाएँ.”

Zakhm Shayari 2 Line Mein – न ज़ख्म भरे न शराब सहारा

Loading...

न ज़ख्म भरे, न शराब सहारा हुई.,
न वो वापस लौटीं, न मोहब्बत दोबारा हुई..

Loading…

RJShayari © 2015