Hindi Shayari - Poetry In Hindi

Best Hindi Sher O Shayari And Ghazal Collection

Loading...

Tag: dharmik shayari 4 lines

Dharmik Shayari In Hindi – कौन कहता है कि मेरा ‘शिव’ प्यार नहीं करता

कौन कहता है कि मेरा ‘शिव’ प्यार नहीं करता…
प्यार तो करता है मगर प्यार का इजहार नहीं करता…
मैनें देखा है दर पे माँगनें वालों को…
मेरा ‘शिव’ देने से इनकार नहीं करता….
भगवान शिव की जय

Dharmik Shayari In Hindi – खाटु श्याम की महफिल को श्याम बाबा सजाते

खाटु श्याम की महफिल को श्याम बाबा सजाते है
आते हैं वो ही जिनको मेरे बाबा बुलाते हैं
जिनका भरी दुनिया में कोई भी नहीं
उनको भी ” बाबा श्याम ” सीने से लगाते हैं

Dharmik Shayari In Hindi – गम में हूँ या हूँ शाद मुझे खुद पता नहीं

गम में हूँ या हूँ शाद मुझे खुद पता नहीं,
खुद को भी हूँ मैं याद मुझे खुद पता नहीं,
मैं तुझ को चाहता हूँ मग़र मांगता नहीं,
मौला मेरी मुराद मुझे खुद पता नहीं
-Kumar Vishwas

Loading...
RJShayari © 2015