बहुत तमन्ना थी तुम्हारा हो जाने की

बहुत तमन्ना थी तुम्हारा हो जाने की….
पर क्या पता था…
कि तुम्हें आदत ही नहीं किसी को अपना बनाने की…




Leave a Reply