मैं राज़ तुझसे कहूँ, हमराज़ बन जा ज़रा

मैं राज़ तुझसे कहूँ, हमराज़ बन जा ज़रा.
करनी है कुछ गूफतगू, अलफ़ाज बन जा ज़रा…




Leave a Reply