2 Lines Intezar Shayari – वो न आयेगा हमें मालूम था उस शाम भी

वो न आयेगा हमें मालूम था उस शाम भी……..
इंतज़ार उस का मगर कुछ सोच कर करते रहे…!! (परवीन शाकिर )




Leave a Reply