Dil Shayari 2 Line Mein – चलो आज चक्कर लगाने जाते है

चलो आज चक्कर लगाने जाते है दुश्मन की गली में,
देखना है अपने दिल की धड़कने तेज होती है या दुश्मन की…….




Dil Shayari 2 Line Mein – ख़ामोशी बहुत कुछ कहती हे कान

ख़ामोशी बहुत कुछ कहती हे ,
कान लगाकर नहीं ,
दिल लगाकर सुनो !!




Dil Shayari 2 Line Mein – फ़िक्र नहीं हमें की तुम दिल

फ़िक्र नहीं हमें की तुम दिल तोड़ दो ..!
फ़िक्र है हमें की कहीं तुम्हें इश्क न हो जाये ..!




Dil Shayari 2 Line Mein – ना कर जिद अपनी हद में

ना कर जिद, अपनी हद में रह, ए दिल…!!!
वो बड़े लोग हैं, अपनी मर्ज़ी से याद करते है




Dil Shayari 2 Line Mein – मैंने दिल के दरवाजे पर चिपका

मैंने दिल के दरवाजे पर चिपका दी है एक चेतावनी,
फ़ना होने का दम रखना तभी भीतर कदम रखना..!!




Dil Shayari 2 Line Mein – काफ़ी है मेरे दिल कि तसल्ली

काफ़ी है मेरे दिल कि तसल्ली को यही बात।।
आप आ न सके आप का पैग़ाम तो आया।।