Hindi Poetry On Yaad – तैयार रहते हैं आंसू मेरी पलकों पे अक्सर

तैयार रहते हैं आंसू मेरी पलकों पे अक्सर,
तेरी यादों का कोई वक़्त मुक़र्रर जो नहीं है…!!




Leave a Reply