Mohabbat Sher O Shayari – मोहब्बत दस्तक दे भी तो भला कैसे दे

मोहब्बत दस्तक दे भी तो भला कैसे दे…
गरीबों के घर में तो दरवाजे ही नहीं होते…




Leave a Reply