Prerak Shayari – गंगा में डुबकी लगाकर, तीर्थ किए हज़ार

गंगा में डुबकी लगाकर, तीर्थ किए हज़ार….
इनसे क्या होगा, अगर बदले नही विचार…




Leave a Reply