Prerak Shayari – परवाह नहीं है पैरों के छालो की

परवाह नहीं है पैरों के छालो की
परवाह है बस अपनी मंजिल पाने की




Leave a Reply