Shayari On Eyes – रात भर तेरी दहलीज पर बैठी रहीं मेरी आंखे

रात भर तेरी दहलीज पर बैठी रहीं मेरी आंखे,
खुद नही आना था तो कोई ख्वाब ही भेज दिया होता !!




Leave a Reply