Anmol Vachan – Inspirational Hindi Suvichar Shayari

जब ख्वाबों के रास्ते ज़रूरतों की ओर मुड़ जाते हैं,
तब असल ज़िन्दगी के मायने समझ में आते हैं.




डूबे हुओं को हमने बिठाया था और फिर

डूबे हुओं को हमने बिठाया था और फिर
कश्ती का बोझ कहकर उतारा हमें गया !!!”




बदला हुआ वक़्त है, ज़ालिम ज़माना है

बदला हुआ वक़्त है, ज़ालिम ज़माना है..
यहां मतलबी रिश्ते है, फिर भी निभाना है..!




सब कुछ हासिल नहीं होता है जिंदगी में

सब कुछ हासिल नहीं होता है जिंदगी में..
किसी का काश और किसी का अगर रह ही जाता है…




सूरज ढला तो कद से ऊँचे हो गए साये

सूरज ढला तो कद से ऊँचे हो गए साये,
कभी पैरों से रौंदी थी, यहीं परछाइयां हमने..




मंज़िलों के ग़म में रोने से मंज़िलें नहीं मिलती

मंज़िलों के ग़म में रोने से मंज़िलें नहीं मिलती;
हौंसले भी टूट जाते हैं अक्सर उदास रहने से।